Operating System क्या है? What is Operating Sytem in Hindi?

Operating Sytem एक System software है|ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर में प्रयोग किया जाने वाले सॉफ्टवेयर का समूह है। जिसके बिना कंप्यूटर RUN नहीं कर सकता|

Operating System का मुख्या काम user और hardware के बीच में interface का काम करना है दुसरे शब्दों में कहें तो operating system कंप्यूटर और इंसान के बीच का एक (Interface) माध्यम है जिसके जरिये हम कंप्यूटर के हार्डवेयर को तरह-तरह के आदेश दे पाते है।

Operating System निर्देशों का समूह होता है जो कि स्टोरेज डिवाइस में स्टोर रहता है। तथा यह programs का समूह होता है जो कि कंप्यूटर के resources तथा operations को manage करता है|

Operating System का सबसे बड़ा example : microsoft windows है|

Operating System के प्रकार / Types of OS in Hindi

  1. CUI (Command User Interface)
  2. GUI (Graphical User Interface)

1. Command User Interface

CUI OS, user फ्रेंडली नहीं होता, क्यूकी CUI OS में सभी काम command बेस्ड होते है कोई भी काम करने के लिए हमको command देनी पड़ती है|

2. Graphical User Interface

GUI OS, user फ्रेंडली OS होता है इसमें काम करने के लिए हमने सिर्फ एक click करना पड़ता है| माइक्रोसॉफ्ट का windows OS GUI based ऑपरेटिंग सिस्टम है|

Operating System के काम / Functions of Operating System

Process Management

Main Memory Management

Secondary Memory Management

File Management

I/O Management

Protection and Security

1. Process Management

OS का काम प्रोसेस मैनेजमेंट करना है| प्रोसेस मैनेजमेंट का मतलब प्रोसेसर को different task के लिए assign करना जो computer परफॉर्म कर रहा होता है|

  1. डेडलॉक हैंडल करना |
  2. user को create तथा delete करना|
  3. प्रोसेस को resume तथा सsuspend करना|

2. Main Memory Management

OS main memory को भी मैनेज करता है OS यह ध्यान रखता है कि वर्तमान में मेमोरी का कौन सा हिस्सा किस प्रोसेस द्वारा उपयोग हो रहा है तथा जब प्रोग्राम टरमिनेट होता है, तो main memory का स्पेस खाली हो जाता है,जो अगले प्रोग्राम के लिए उपलब्ध होता है मेमोरी स्पेस उपल्ब्ध होने पर यह निर्णय लेना कि मेमोरी में किन प्रोसेस को लोड किया जाएगा इसकी जिम्‍मेदारी भी ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System) की होती है

3. Secondary Memory Management

OS secondary memory को भी मैनेज करता है| Main memory का साइज़ काफी limited होता है यह सभी user program को एक साथ store नहीं कर सकती और जब power lost हो जाती है to सारा डाटा lost हो जाता है to OS, secondary storage device को backup के तरह use करता है|

4. File Management

OS file management भी करता है जेसे:

  1. file को create करना या delete करना |
  2. directory को create या delete करना |
  3. Files को manipulate करना |
  4. file का backup लेना |

5. Input/Output Management

ऑपरेटिंग सिस्टम सभी input/output devices जेसे कीबोर्ड, माउस, प्रिंटर आदि को मैनेज करता है |

6. Protection and Security

OS और के important फंक्शन है अपने आप को प्रोटेक्ट करना | OS आपके computer के सभी program के बीच डाटा सिक्योरिटी रखता है  वह कंप्यूटर में स्टोर होने वाले सभी प्रकार के डाटा और प्रोग्राम को इस प्रकार से अलग-अलग रखता है कि वह एक दूसरे के बीच मिक्स ना हो जाए इसके अलावा ऑपरेटिंग सिस्टम में यूजर सिक्योरिटी भी होती है जिससे कोई भी व्यक्ति आपके डेटा को नष्ट ना कर पाए इस तरह से ऑपरेटिंग सिस्टम आपकी कंप्यूटर की सिक्योरिटी को भी मैनेज करता है|

Tech Master Hindi

Tech Master Hindi is India's No.1 Technical and Computer Education Website that provide online education in Hindi Language. Tech Master Hindi is a Product from Temple Genix.

Related Posts

error: Content is protected !!