DBMS in Hindi | DBMS क्या है?

DBMS की फुल फॉर्म Database Management system है। Database, Management और System चलिए तो आज हम आपको इन तीन शब्दों के अर्थ समझाते हैं।

Database : डाटा को अत्यधिक मात्रा में स्टोर करना।
Management : डाटा को हैंडल करने से सम्बंधित गतिविधियां।
System : एक विशेष प्रोग्रामर या सॉफ्टवेयर।

DBMS Definition

DBMS या डेटाबेस प्रबंधन प्रणाली एक software है, जो हमे database में data create, data store और data update करने की अनुमति देता है, जिसके कारण user डेटा को बहुत आसानी से store, access और analyse कर पाते है, इसके लिए dbms एक interface या tool प्रदान करता है.

DBMS तीन महत्वपूर्ण चीजो को manage करता है.

Database Engine – जो डेटा को एक्सेस, लॉक और संसोधित करता है|

Database Schema – यह डेटाबेस के logical structure को define करता है|

Data – डाटा कुछ raw फैक्ट्स है जिसे डेटाबेस में स्टोर किया जाता है|

Types of DBMS | DBMS के प्रकार

1. Hierarchical Database

2. Relational Database

3. Network Database

4. Object Oriented Database

1. Hierarchical Database

Hierarchical Database Management Systems पैरेंटस्-चाइल्‍ड के मॉडल पर काम करता है , यह बहुत ही फास्‍ट और सरल है, इसकी संरचना एक पड़े के सामान होती है| इसमें एक root होता है, यहाँ पर relationship को child और parent के रूप में दर्शया जाता है|

2. Relational Model

इस Model में डाटा को relation मतलब टेबल में स्टोर किया जाता है तथा प्रत्येक रिलेशन में Row And Colum होते हैं| Relational Model Tables का कलेक्शन होता है इसमें डाटा एंड रिलेशनशिप को स्पेसिफाई किया जाता है| Relational Model में जो डाटा होते हैं उस डाटा को टू डाइमेंशनल टेबल में Store किया जाता है जैसा कि हम जानते हैं कि टेबल को रिलेशन भी कहते हैं और प्रत्येक टेबल की Row को हम Tupple तथा कॉलम को Attribute कहते हैं Tupple Entity को रिप्रेजेंट करता है|

3. Network Model

Network model जो multiple records को एक ही मालिक से link करने की अनुमति देता है| इस मॉडल को उल्टे पेड़ के structure की तरह भी देखा जाता है| नेटवर्क डेटाबेस संस्थाओं के बीच सम्बंध बनाने के लिए एक Network structure का उपयोग करता है| इसका उपयोग मुख्य रूप से digital computer पर किया जाता है| Network database और hierarchical database बिल्कुल समान है| परन्तु hierarchical database की एक node में सिर्फ एक parent हो सकते है, वही Network node में कई संस्थाओं के साथ relationship हो सकती है. Network database में child को member और parents को occupier कहा जाता है|

4. Object Oriented Database

इस तरह के database में डाटा को object के रूप में store किया जाता है. इस तरह के database में दो या अधिक objects के बीच अलग-अलग type की रिलेशनशिप्स हो सकते हैं. इस तरह के database को create करने के लिए object-oriented programming language की जरुरत पडती है।

DBMS Component

1. Tables

DBMS में सारा डाटा टेबल्स में रखा जाता है. डाटा संग्रह, फ़िल्टर, संपादन, पुन: प्राप्त करना आदि सभी कार्य टेबल्स पर ही किये जाते है. टेबल्स Rows और Columns से मिलकर बनी होती है जिनके अंदर सारा डाटा स्टोर होता है.

2. Field

टेबल के अंदर प्रत्येक Column को फिल्ड कहते है. इसमें हर डाटा का विशिष्ट भाग संग्रहित होता है जैसे ग्राहक संख्या, ग्राहक का नाम, सड़क का पता, राज्य आदि.

3. Record

टेबल के अंदर पंक्तियों में जो डाटा होता है उसे रिकॉर्ड कहते है. रिकॉर्ड एक तरह की एंट्री है जिसमे व्यक्ति का नाम, फ़ोन नंबर आदि हो सकता है.

4. Queries

किसी टेबल या डेटाबेस में से जरूरत के हिसाब से डाटा निकालने को क्वेरी कहते है. जैसे आप एक ही शहर में रहने वाले दोस्तों की सूचि निकालना चाहते है तो उसे क्वेरी कहेंगे.

5. Forms

आप टेबल में डाटा दर्ज कर सकते है लेकिन उसमे संसोधित करना तथा भण्डारण करना आसान नहीं होता है. इसलिए इस समयसा को दूर करने के लिए फॉर्म्स का प्रयोग किया जाता है. टेबल की तरह ही फॉर्म्स में डाटा दर्ज किया जाता है.

6. Reports

जब आप डेटाबेस के रिकॉर्ड को कागज पर प्रिंट करते है तो उसे रिपोर्ट कहते है.

Functions of DBMS

1. Create Data: DBMS के द्वारा डाटा को क्रिएट किया जाता है अर्थात उसे टेबल में स्टोर किया जाता है|

2. Manage Data: इसमें डाटा को मैनेज किया जाता है ताकि इसे आसानी से एक्सेस किया जा सके|

3. Update Data: इसमें जरूरत के अनुसार डाटा को अपडेट किया जा सकता है|

4. Delete Data: इसमें जिस डाटा की जरूरत नहीं है उस डाटा को डिलीट किया जाता है|

5. Data Backup: इसमें डाटा का बैकअप लिया जाता है ताकि सिस्टम फैलियर होने पर उसे रिकवर किया जा सके|

6. Data Recovery: इसमें सिस्टम फैलियर होने पर डाटा को रिकवर किया जाता है|

Tech Master Hindi

Tech Master Hindi is India's No.1 Technical and Computer Education Website that provide online education in Hindi Language. Tech Master Hindi is a Product from Temple Genix.

Related Posts

error: Content is protected !!