Assets Meaning in Hindi? vs Liabilities Meaning in Hindi

सरलतम रूप में, आपकी balance sheet को दो श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है: Assets (संपत्ति) और Liabilities (देनदारियाँ)।

Assets वह होती है जिस पर किसी कंपनी का या किसी Individual का स्‍वामित्‍व होता है।

Liabilities वे हैं जो आप अन्य पार्टियों को देते हैं। संक्षेप में, संपत्ति आपकी जेब में पैसा डालती है, और देनदारियां पैसा निकालती हैं!

Assets vs Liabilities

Assets आपकी कंपनी में मूल्य जोड़ते हैं और आपकी कंपनी की equity बढ़ाते हैं, जबकि liabilities आपकी कंपनी के मूल्य और equity को कम करती हैं।

आपकी Assets जितनी अधिक होंगी, आपकी liabilities उतनी ही मजबूत होंगी, आपके व्यवसाय का वित्तीय स्वास्थ्य मजबूत होगा।

Examples of Assets

  • Cash
  • Investments
  • Inventory
  • Office equipment
  • Machinery
  • Real estate
  • Company-owned vehicles

Examples of Liabilities

  • Bank debt
  • Mortgage debt
  • Money owed to suppliers (accounts payable)
  • Wages owed
  • Taxes owed

What is an Asset?

Asset मूल्य का कुछ भी है या मूल्य का एक संसाधन है जिसे नकद में परिवर्तित किया जा सकता है। Individuals, companies, और सरकारों के पास अपनी संपत्ति है। एक कंपनी के लिए, एक asset राजस्व उत्पन्न कर सकती है

Types of Asset?

1. Non-Current Assets

Non-Current Assets – ऐसी Assets जिसे कोई Company एक वित्तिय वर्ष (Financial Year) से अधिक समय के लिए रखना चाहती है। Non-Current Assets कहलाती है। Non-Current Assets को Long Term Assets भी कहा जाता है।

अन्‍य शब्‍दों में Long Term Assets उन Assets को कहा जाता है जो कोई Company या Individual लम्‍बे समय तक के लिए अपने पास रखते हैं या ऐसी Assets जिसे किसी Company द्वारा 5 साल या उससे लम्‍बी अवधि तक के लिए रखा जाता है। Long-Term Assets कहलाती है।

2. Current Assets

Current Assets – ऐसी Assets जिसे एक Financial Year या उससे कम अवधि में ही Liquid या Cash में Convert किया जा सकता है और इनका Use Short Term Debt के भुगतान में किया जा सकता है। Current Assets कहलाती है। Current Assets को Short Term Assets भी कहा जाता है।

अन्‍य शब्‍दों में कहे तो Short Term Assets ऐसी Assets होती है जो एक Company या Individual अपने पास एक Financial Year या उससे कम समयावधि तक के लिए ही रखते हैं। जैसे-

  • आपकी दूकान में रखा हुआ Stocks जो कुछ समय के बाद बिक जाऐगा।
  • आपने किसी को माल उधार बेचा है (जिन्‍हे Companies की भाषा में Debtors या देनदार कहा जाता है।) और पैसे आने वाले हैं।

What is Liabilities?

Liabilities का हिंदी meaning दायित्व, कर्जा या ऋण होता है| जो पैसा आपको किसी दुसरे पार्टी को देना होता है तो उसे liabilities कहा जाता है| किसी भी company के द्वारा किसी अन्य company या organisation को दिया जाने वाला राशी या मूल्य Liabilities कहलाता है| Liabilities का मतलब होता है अपने पॉकेट से पैसा को किसी दुसरे के पॉकेट में या account में send करना|

साधारण शब्दों में समझे तो किसी एक company के द्वारा दुसरे company को दिए जाने वाले सम्पति Liabilities कहलाता है|

Types of Liabilities

1. Non-current Liabilities

Non-Current Liabilities वैसे liabilities होते हैं जिसे हमें एक financial year या उससे अधिक समयों के बाद चुकाना होता है मतलब की वैसा liabilities जिसे हमें लम्बे समय के बाद चुकाना होता है इसीलिए इसे Long term liabilities भी कहा जाता है|

2. Current Liabilities

Current Liabilities वैसे liabilities को कहा जाता है जिसे हमें एक सिमित समयों में यानि की short time में चुकाना पड़ता है इसलिए इसे short term liabilities भी कहा जाता है|

Vikas Sharma

Vikas Sharma is Founder of Tech Master Hindi. Vikas Sharma holds BCA, MCA Degree and CCNA, MCITP, Oracle 10g, C, C++, ASP.Net Certification.Vikas Sharma is a professional UX/UI Web Developer and Designer. Vikas Sharma is IT Teacher in Govt Sen Sec School Mohal Distt Kullu (H.P.)

Related Posts

error: Content is protected !!